INDvsAUS: विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार भारत में सीरीज हारी टीम इंडिया

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरे पर धमाकेदार प्रदर्शन करने वाली टीम इंडिया को अपने ही घर में हार का सामना करना पड़ा है. ऑस्ट्रेलिया ने मेजबान भारत को बुधवार (27 फरवरी) दूसरे टी20 मैच में सात विकेट से हरा दिया. इसके साथ ही उसने दो मैचों की सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली. ऑस्ट्रेलिया ने भारत में पहली बार टी20 सीरीज जीती है. इतना ही नहीं, भारतीय टीम विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार अपने घर पर ही कोई सीरीज हारी है.

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टी20 मैच बेंगलुरू (Bengaluru T20) में खेला गया. भारत ने इस मैच में विराट कोहली (72) के अर्धशतक की बदौलत चार विकेट पर 190 रन का मजबूत स्कोर बनाया. ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल ने इस मैच में 113 रन की बेहतरीन पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिला दी. ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच में 19.4 ओवर में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. मेहमान टीम ने तीन विकेट पर 194 रन बनाए. मैक्सवेल को मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज का खिताब दिया गया.

इस जीत के साथ ही विराट कोहली का घरेलू सरजमीं पर सभी फॉर्मेट की सीरीज में अजेय रहने के रिकॉर्ड पर विराम लग गया. कोहली की कप्तानी में भारत ने इससे पहले सभी फॉर्मेट में पिछली 15 सीरीज में से 14 में जीत दर्ज की थी, जबकि एक ड्रॉ रही थी. विराट कोहली ने पहली बार 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही कप्तानी की थी.

इस मैच की बात करें तो भारतीय टीम तीन बदलाव के साथ उतरी. उसने रोहित शर्मा को रेस्ट दिया. उमेश यादव और मयंक मार्कंडेय को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया गया. इन तीनों की जगह क्रमश: शिखर धवन, सिद्धार्थ कौल और विजय शंकर को जगह दी गई. ऑस्ट्रेलिया ने पहले टी20 मैच की अपनी टीम में कोई बदलाव नहीं किया.

भारत ने टॉस हारकर पहले बैटिंग की. उसकी ओर से विराट कोहली के अलावा केएल राहुल (26 गेंदों पर 47 रन) और एमएस धोनी (23 गेंद पर 40 रन) ने बेहतरीन पारियां खेलीं. कोहली ने 38 गेंदों पर दो चौकों और छह छक्कों की मदद से नाबाद 72 रन बनाए. यह उनका रिकॉर्ड 20वां अर्धशतक है. धोनी ने अपनी पारी में तीन चौके और तीन छक्के जमाए. राहुल ने अपनी पारी में तीन चौके और चार छक्के लगाए. कोहली और धोनी ने चौथे विकेट के लिए 100 रन जोड़े.

ऑस्ट्रेलिया ने मैक्सवेल के दम पर भारतीय बल्लेबाजों के प्रयासों पर पानी फेर दिया. उसकी ओर से मैक्सवेल ने 55 गेंदों पर नाबाद 113 रन बनाए, जिसमें सात चौके और नौ छक्के शामिल हैं. उन्होंने डिआर्सी शार्ट (28 गेंद पर 40) के साथ तीसरे विकेट के लिए 73 और पीटर हैंड्सकॉम्ब के साथ चौथे विकेट के लिए 99 रन की अटूट साझेदारी की. इसमें हैंड्सकॉम्ब का योगदान नाबाद 20 रन था. मार्कस स्टोइनिस सात और एरॉन फिंच आठ रन बनाकर आउट हुए.