जम्मू में छात्रों के लिए 100 सदस्यीय मनोवैज्ञानिक कार्य बल का गठन

 जम्मू कश्मीर में जम्मू के स्कूल शिक्षा निदेशालय ने कोरोना वायरस महामारी के बीच छात्रों का मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण सुनिश्चित करने के लिए एक मनोवैज्ञानिक कार्य बल का गठन किया है जिससे क्षेत्र में परामर्श ढांचे को मजबूती मिलेगी। यह जम्मू क्षेत्र के उच्चतर माध्यमिक और माध्यमिक स्कूलों में पहले से चल रहे टेली-परामर्श हेल्पलाइन और परामर्श प्रकोष्ठ के अतिरिक्त है। स्कूल शिक्षा निदेशालय ने रविवार को एक विज्ञप्ति में कहा, “ मनोवैज्ञानिक कार्य बल अपनी शैक्षणिक ड्यूटी के अलावा परामर्श सेवा (मनो-सामाजिक, करियर और बाल संरक्षण) को मजबूती देगा।’’ विज्ञप्ति में कहा गया है कि कार्य बल में मनोविज्ञान में परास्नातक किए हुए 100 से ज्यादा संकाय सदस्य शामिल होंगे, जिन्हें पेशेवर संगठनों और अन्य के जरिए परामर्श और अन्य कौशल में प्रशिक्षित किया जाएगा। निदेशालय भारतीय काउंसलिंग साइकॉलोजी एसोसिएशन (बीसीपीए) के साथ मिलकर एक से तीन जून तक कार्य बल के लिए परामर्श कौशल पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। इस बीच, निदेशक स्कूल शिक्षा जम्मू, अनुराधा गुप्ता ने परामर्श के साथ जुड़े अधिकारियों से बातचीत में कहा कि मानसिक स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं उभर रही हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि बच्चों की मनोवैज्ञानिक जरुरतों को कम करने के लिए कार्य बल लंबा रास्ता तय करेगा।