कश्मीर में छात्रों के लिए रेडियो पर पढ़ाई अगले सप्ताह से

कोरोना वायरस प्रसार पर रोक के लिए लागू लॉकडाउन के बीच कश्मीर में स्कूल शिक्षा विभाग अधिकतम छात्रों तक पहुंचने के लिए ऑल इंडिया रेडियो के सहयोग से अगले सप्ताह से ऑडियो कक्षाएं शुरू कर रहा है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।अधिकारियों ने कहा कि शैक्षिक प्रसारण से छात्र अपने घरों में बैठकर रेडियो के माध्यम से पढ़ाई कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि इस पहल का उद्देश्य देशव्यापी लॉकडाउन के कारण घरों तक सीमित छात्रों को शैक्षणिक गतिविधियों में संलग्न करना और उन तक पहुंच बनाना है।शिक्षक पाठ्यक्रम के अनुसार पढ़ाएंगे और वह रेडियो के माध्यम से छात्रों तक पहुंचेगा।अधिकारियों ने बताया कि पाठ ऑल इंडिया रेडियो, श्रीनगर में दिन के समय प्रसारित किये जाएंगे, जिसके लिए रेडियो केंद्र द्वारा समय पहले ही निर्दिष्ट किया जा चुका है।स्कूल शिक्षा निदेशालय (डीएसईके), कश्मीर ने 26 मार्च को दूरदर्शन केंद्र, श्रीनगर के काशीर चैनल के माध्यम से टेली-कक्षाएं शुरू की थीं और वर्तमान में दो कक्षाएं प्राथमिक और माध्यमिक कक्षाओं के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रसारित की जा रही हैं।विभाग ने स्थानीय केबल नेटवर्क के माध्यम से भी छात्रों तक पहुंच बनाई है जो डीएसईके द्वारा तैयार पाठ का प्रसारण करते हैं।डीएसईके अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से बड़ी संख्या में छात्रों से जुड़ा है और इसके यूट्यूब चैनल पर छात्रों के लिए वीडियो कक्षाएं उपलब्ध हैं, जो डीएसईके की आधिकारिक वेबसाइट से जुड़ा हुआ है।स्कूल शिक्षा, कश्मीर के निदेशक मोहम्मद यूनिस मलिक ने कहा कि ये प्लेटफार्म बच्चों के लिए उपलब्ध कराये गए हैं ताकि वे अलग-थलग महसूस न करें और लॉकडाउन के कारण अपने घर पर रहकर पढ़ाई जारी रख सकें।उन्होंने कहा कि निदेशालय छात्रों तक पहुंच बनाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन सभी विकल्पों की तलाश कर रहा है ताकि कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण उनकी पढ़ाई प्रभावित न हो।कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कश्मीर में प्रतिबंध लागू हैं।उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने घाटी के अधिकांश स्थानों पर मुख्य सड़कों को बंद कर दिया है और लोगों की बेवजह आवाजाही रोकने और लॉकडाउन को लागू करने के लिए कई अन्य स्थानों पर बैरियर लगाए हैं।