कोरोना वायरस के चढ़ते ग्राफ के बीच 16-17 जून को मुख्यमंत्रियों से बातचीत करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

 कोरोना वायरस महामारी के चढ़ते ग्राफ के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 और 17 जून को देश के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा करेंगे. ये बातचीत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए होगी. बीते 10 दिनों में कोरोना वायरस के करीब एक लाख मामले देशभर में सामने आए हैं. शुक्रवार को पहली बार 24 घंटे के भीतर ही 10 हज़ार से ज्यादा कोरोना के मरीज़ों की पुष्टि हुई. देश में कुल मामले तीन लाख के पार चले गए हैं.

वहीं, केंद्र ने शुक्रवार को राज्यों से कोविड-19 के उभरते केंद्रों (अत्यधिक मामलों वाले नये स्थानों) पर विशेष ध्यान देने और कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने को कहा. कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू लॉकडाउन से देश के धीरे-धीरे बाहर आने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बार फिर विचार-विमर्श करेंगे.

ये बैठक ऐसे समय में होने जा रही है जब देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. कोरोना के बीच ‘अनलॉक-1’ के दौरान आम लोगों और कारोबारियों को कई तरह की छूट दी गई, ताकि लॉकडाउन से प्रभावित आर्थिक गतिविधियों को गति मिल सके. हालांकि इसका नतीजा ये हुआ कि मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है.

भारत दुनिया में चौथे पायदान पर
‘वर्ल्डोमीटर’ के मुताबिक कोरोना वायरस के मामलों के लिहाज से गुरुवार को भारत ब्रिटेन को पीछे छोड़ दुनिया का चौथा सबसे अधिक प्रभावित देश बन गया. भारत में कोरोना वायरस का सबसे पहला मामला 30 जनवरी को सामने आया था, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या एक लाख तक पहुंचने में 100 दिन से अधिक का समय लगा, लेकिन दो जून तक आंकड़ा दो लाख तक पहुंच गया.

चीन में पिछले दिसंबर में संक्रमण सामने आने के बाद से अब तक पूरी दुनिया में 75 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं, जिसमें से चार लाख से अधिक मरीजों की मौत हो चुकी है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, शुक्रवार सुबह आठ बजे तक (इससे 24 घंटे पहले से) संक्रमण के 10,956 मामले सामने आने के साथ देश में कोविड-19 के कुल मामले बढ़ कर 2,97,535 पहुंच गये हैं. वहीं, इस महामारी से एक दिन में सर्वाधिक 396 लोगों की मौत होने के साथ कुल मृतक संख्या बढ़ कर 8,498 हो गई है.

हालांकि, राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की ओर से शुक्रवार रात 10:15 बजे तक घोषित आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 3,00,519 तक पहुंच गए, जबकि मृतकों की संख्या 8,872 हो गई. साथ ही इनमें से 1.52 लाख मरीज स्वस्थ हुए हैं.

अब 17.4 दिन में दोगुने हो रहे मामले
मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के दोगुना होने में लगने वाला समय बढ़कर अब 17.4 हो गया है, जो कुछ हफ्ते पहले 15.4 दिन था. मंत्रालय ने कहा कि लॉकडाउन लागू किये जाने के समय, 25 मार्च को कोविड-19 मामलों के दोगुना होने में लगने वाला समय 3.4 दिन था.

टॉप 5 में हैं ये राज्य
देश में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात और उत्तर प्रदेश में देखा जा रहा है. ये राज्य संक्रमित मरीज़ों के मामले में टॉप 5 में हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के पॉजिटिव मामले बढ़कर 101141 हो गए हैं, जिसमें 3717 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटों में महाराष्ट्र में 3493 मामले सामने आए हैं. वहीं तमिलनाडु में 38716 मामले, दिल्ली में 36,824 मामले, गुजरात में 22032 मामले और यूपी में 12082 मामले सामने आ चुके हैं.