लॉकडाउन में हवाई यात्रा रद्द, जानिए कैसे मिलेगा आपको आपके टिकट का पैसा वापस

कोरोना वायरस के मद्देनज़र देशभर में लॉकडाउन लगा हुआ है. ऐसे में हवाई यात्राएं भी रद्द हो गई है. अब सवाल है कि अगर आपने एयर टिकट ले रखा था तो आपके पैसों का क्या होगा. अगर मिलेगा तो कैसे मिलेगा? क्या कंपनी रद्द हुई यात्रा की जगह दूसरा टिकट मुहैया कराएगी? आइए इन सभी सवालों के जवाब जानते हैं.

बता दें कि सभी एविएशन कंपनियों को सरकार की ओर सेवाएं रोक दिए जाने का निर्देश दिया गया है. ऐसे में कैसे मिलेगा आपका पैसा वापस इसको लेकर अलग-अलग एविएशन कंपनी के नियम आपको बताते हैं.
इंडिगो एयरलाइन्स की बात करें तो कोई भी यात्री 30 अप्रैल, 2020 तक पहले से बुक या नई टिकट की बुकिंग को कॉल सेंटर, एयरपोर्ट के काउंटर या वेबसाइट के माध्यम से कैंसिल करवा सकता है. अब सवाल कि पैसे कैसे वापस मिलेंगे तो इसका जवाब यह है कि टिकट रद्द होने के बाद इंडिगो इस राशि को ग्राहक के नाम से एक वॉलेट में डाल देगी. यह राशि अगले एक साल तक के लिए वैध होगी. इस राशि का इस्तेमाल कोई भी यात्री अगले एक साल में किसी भी बुकिंग के लिए कर सकता है. अगर आपने कहीं ऑनलाइन स्टोर से टिकट बुक कराई है तो अगली बार इस राशि का इस्तेमाल करने के लिए आपको उसी दुकानदार से टिकट बुक करवानी होगी.

अब बात करते हैं स्पाइसजेट एयरलाइन की. इन्होंने सभी ग्राहकों के 25 मार्च से 14 अप्रैल के टिकट रद्द कर दिए.इन्होंने भी पैसे ग्राहक के वॉलेट में रखा है. जिसका इस्तेमाल ग्राहक 28 फरवरी 2021 तक कर सकता है.

इंडिगो एयरलाइन्स और स्पाइसजेट के बाद आइए अब बात करते हैं गोएयर की. गोएयर ने भी एक साल तक टिकट बुकिंग कराने की सुविधा दी है. नई बुकिंग करते समय पुराना पीएनआर दर्ज करना होगा. जिससे पुराना किराया नई बुकिंग के समय इस्तेमाल किया जा सके.

एयरइंडिया ने भी अन्य एयरलाइन्स की तरह अपने ग्राहकों का ख्याल रखा है. सरकारी एयरलाइंस एयरइंडिया ने भी 23 मार्च से 30 अप्रैल के दौरान सभी यात्रियों की टिकट को रद्द कर दिय है. हालांकि एयरइंडिया ने कहा है कि कोई भी टिकट कैंसिल करवाने के लिए एयरपोर्ट काउंटर या ट्रैवल एजेंट के पास न जाएं. सभी टिकट स्वत: रद्द हो जाएंगे और रद्द हुए टिकट की पूरी राशि एयर इंडिया के पास सुरक्षित रहेगी