जम्मू-कश्मीर में आविष्कार, नवाचार, ऊष्मायन और प्रशिक्षण के लिए दो केंद्र स्थापित किए जाएंगे

उद्योग-अकादमिक भागीदारी को मजबूत करने और तकनीकी शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय में, उपराज्यपाल जीसी मुर्मु की अध्यक्षता में हुई प्रशासनिक परिषद ने जम्मू और कश्मीर में आविष्कार, नवाचार, ऊष्मायन और प्रशिक्षण के लिए दो केंद्रों की स्थापना के लिए मंजूरी दी है।
कश्मीर संभाग में केंद्र को गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, बारामूला में स्थापित किया जाएगा और जम्मू संभाग में सीआईआईआईटी की स्थापना के लिए स्थान को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा।
इस कदम का उद्देश्य इंजीनियरिंग कॉलेजों, पॉलिटेनिक कॉलेजों और आईटीआई के छात्रों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करना है। यह परियोजना नवाचार और छात्रों के कौशल विकास के लिए उद्योग के पेशेवरों को सरल बनाने और उद्यमशीलता के निर्माण लिए जम्मू-कष्मीर सरकार और टाटा प्रोद्यौगिकियांे के बीच एक संयुक्त उद्यम के रूप में एक उद्योग के नेतृत्व वाला संघ होगी।
इस परियोजना के माध्यम से, टाटा प्रोद्यौगिकियांे ने प्रशिक्षण और कौशल विकास प्राप्त करने वाले 2880 छात्रों/पेशेवरों की वार्षिक क्षमता के साथ 18 पाठ्यक्रम और कई अन्य सहायक पाठ्यक्रम शुरू करने का प्रस्ताव दिया है।