जम्मू-पंजाब बॉर्डर पर 200 मज़दूरों को पुलिस ने लखनपुर में रोका

जम्मू-पंजाब बॉर्डर पर कठुआ जिले के लखनपुर में रोज़ाना दूसरे राज्यों में फंसे प्रदेश के श्रमिक, मज़दूर, छात्र और पर्यटक लौट रहे हैं. वहीं यहां दूसरे राज्यों के फंसे करीब 200 मज़दूर फिर पहुंचे. जम्मू से अपने घरों के लिए पैदल निकले इन मज़दूरों को हालांकि पुलिस ने लखनपुर में ही रोक दिया है.

जम्मू-कश्मीर के प्रवेश द्वार कठुआ के लखनपुर में पिछले दो दिनों से देश के अलग अलग राज्यों के करीब 200 ऐसे लोग फंसे हुए हैं. इन फंसे लोगो में जम्मू और साथ के जिलों में ईंट के भट्टो में काम करने वाले मज़दूर, खेतो में काम करने वाले मज़दूर शामिल हैं.

लखनपुर में फंसे इन लोगों के मुताबिक वो 20 मार्च से बिना काम काज के रह रहे हैं और उनके पास पैसे और राशन की कमी है. इन फंसे मज़दूरों के मुताबिक वो पैदल ही अपने प्रदेश जाना चाहते हैं लेकिन उन्हें जम्मू से पंजाब की तरफ नहीं जाने दिया जा रहा.

इन फंसे मज़दूरों में से अधिकतर राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश से हैं. वहीं, कठुआ प्रशासन का दावा है कि यहां पहुंचे इन सभी मज़दूरो की सूची बनायीं जा रही है और इन सभी मज़दूरो की घर वापसी सरकार द्वारा बनाए गए प्रोटोकॉल के तहत ही होगी.