पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर में पाकिस्तान ने किया संघर्ष विराम उल्लंघन, 65 साल की महिला की मौत

पाकिस्तान अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहा है. जम्मू-कश्मीर बॉर्डर पर लगातार पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है. पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन में पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर में एक 65 साल की महिला की मौत हो गई. इसके अलावा एक अन्य शख्स भी घायल है.

भारत ने पिछले साल पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को निरस्त कर दिया था, जिसके बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बना दिए गए. इसके बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. भारत के इस कदम के बाद पाकिस्तान ने सीमा पार से गोलीबारी बढ़ा दी थी.

पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन में इजाफा
एक तरफ भारतीय सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी सेना के सामने गंभीर स्थिति में है और इसी बीच इसे पाकिस्तानी सेना की तरफ से सीमा पर लगातार संघर्षविराम उल्लंघन का सामना करना पड़ रहा है. जून में संघर्ष विराम उल्लंघन के कुल 411 मामले सामने आए. मई में संघर्ष विराम उल्लंघन के 382, अप्रैल में 387, मार्च में 411, फरवरी में 366 और जनवरी में कुल 367 संघर्ष विराम उल्लंघन हुए हैं.

2019 की पहली छमाही में संघर्ष विराम उल्लंघन का आंकड़ा इस संख्या से लगभग आधा रहा था. पिछले साल जनवरी में 203 संघर्ष विराम उल्लंघन हुए थे, जबकि फरवरी में 215, मार्च में 267, अप्रैल में 234, मई में 221 और जून में 181 संघर्ष विराम उल्लंघन दर्ज किए गए थे. कुल मिलाकर 2019 में संघर्ष विराम उल्लंघन की 3,168 घटनाएं सामने आई थी. वहीं 2018 में लगभग 1,629 संघर्ष विराम की घटनाएं देखी गईं.

पिछले साल अगस्त में संघर्ष विराम उल्लंघन के 307 मामले सामने आए. सितंबर में यह आंकड़ा 292 था और अक्टूबर में अचानक गोलीबारी बढ़ गई और संघर्ष विराम का आंकड़ा बढ़कर 351 हो गया. नवंबर में इसकी संख्या 304 और दिसंबर में 297 थी.