सीरिया के बाद अब अफगानिस्तान से सेना वापस बुलाने की तैयारी में अमेरिका

सीरिया पर जीत दर्ज करने का ऐलान करने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान को लेकर भी बड़ा फैसला किया है. अमेरिका ने अफगानिस्तान में मौजूद अपने करीब 7000 सैनिकों को वापस बुलाने का आदेश दिया है, पेंटागन जल्द इस फैसले को लागू कर सकता है. बता दें कि कुछ समय पहले ही डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान नीति में बदलाव का ऐलान किया था और अब ये फैसला एक तरह से चौंकाता है.

अमेरिकी सरकार का ये फैसला उस दिन आया है जब रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. गौरतलब है कि पिछले करीब 17 साल से अमेरिकी सेना अफगानिस्तान में मौजूद है. अब अमेरिका ने फैसला किया है कि वहां मौजूद सभी 14,000 सैनिकों को धीरे-धीरे बुलाने का फैसला किया है. अगले कुछ महीनों में इस प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा.

आपको बता दें कि अफगानिस्तान में मौजूद ये 14000 सैनिक वहां पर स्थानीय आर्मी को ट्रेनिंग देने के अलावा ISIS और अलकायदा के खिलाफ सैन्य ऑपरेशन चलाने का काम करते हैं.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति पद संभालने के बाद ही डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान नीति में बड़ा बदलाव किया था. इस दौरान ट्रंप ने अफगान नीति में भारत के रोल को अहम बताया था. भारत लगातार अफगानिस्तान में युद्ध से इतर वहां आर्थिक सहयोग पहुंचाने और संबंध बढ़ाने पर जोर देता रहा है.

अभी एक दिन पहले ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया से भी अपने करीब 2000 सैनिकों को बुलाने का आदेश जारी किया है. अमेरिकी राष्ट्रपति के मुताबिक, उन्होंने वहां पर मौजूद IS पर जीत हासिल कर ली है यही कारण है कि अब यूएस आर्मी धीरे-धीरे वहां से वापस लौटेगी. इसी फैसले से खफा होकर जिम मैटिस ने अमेरिकी रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा दिया है.

अफगानिस्तान पिछले काफी समय से आतंकवाद की समस्या से जूझ रहा है, पहले अलकायदा, फिर लश्कर-ए-तैयबा और अब आईएसआईएस वहां पर लगातार आतंकवाद फैला रहे हैं. आपको बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल के दौरान ही अफगानिस्तान से चरण दर चरण सेना को हटाने का फैसला किया गया था.