पाकिस्तान में भारतीय राजनयिकों का उत्पीड़न जारी, आवास की 4 घंटे बिजली काटी

इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के उत्पीड़न की एक और नई घटना सामने आई है. इस बार द्वितीय सचिव के आवास पर पावर 4 घंटे बिजली काटी गई. बिजली कटौती क्रिसमस पर सुबह 7 बजे से लेकर 10 बजे तक के लिए की गई. इससे उनके बच्चों समेत परिवार के सभी सदस्यों को बहुत परेशानी हुई. यह पहला मौका है जब भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के परिवार प्रभावित हुए. इस समय में पाकिस्तान में कड़ाके की ठंड है और ऐसे में समय में बिजली कटौती से उच्चायोग के अधिकारियों के परिवारों को किस तकलीफ से गुजरना पड़ा, आप उसका सहज ही अंदाजा लगा सकते हैं.

पावर कट के मुद्दे को पाकिस्तान के जल एवं विद्युत विकास प्राधिकरण (डब्ल्यूएपीडीए) के सामने उठाया गया. डब्ल्यूएपीडीए पाकिस्तान सरकार के अधीन काम करने वाली एजेंसी है जो जल और बिजली का वितरण संभालती है. भारतीय अधिकारियों ने फोन पर डब्ल्यूएपीडीए में शिकायत भी दर्ज कराई. भारत ने पाकिस्तान को बीते 27 दिसंबर को एक और नोट जारी किया है. इससे पहले 21 दिसंबर को नोट जारी किया गया था.

भारत ने पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय से संबंधित प्राधिकरण को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि फिर इस तरह की घटनाएं न हों. इस माह में यह पहला मौका है जब भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के आवस की बिजली काटी गई.

भारतीय अधिकारियों के उत्पीड़न की यह तीसरी घटना है. 10 दिसंबर को कुछ अज्ञात लोगों ने भारतीय अधिकारियों के आवास पर घुसने की कोशिश की थी. 21 दिसंबर को भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों से रोड पर आधा घंटे तक पूछताछ की गई. भारतीय अधिकारी किस्सा ख्वानी बाजार और उसके आसपास के होटल से लौट रहे थे, तब पाकिस्तान की एजेंसी के 2 अधिकारियों ने उनकी गाड़िया रुकवाकर पूछ्ताछ की. इसके अलावा, पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायोग की नई रिहायशी इमारत को गैस कनेक्शन मुहैया नहीं कराया.