अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू में यात्री निवास का इस्तेमाल आधार शिविर के रूप में किया जायेगा

 यहां भगवती नगर में यात्री निवास का इस्तेमाल दक्षिण कश्मीर हिमालय में स्थित अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन के वास्ते आगामी तीर्थयात्रा के आधार शिविर के रूप में किया जाएगा। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘‘सभी आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था के साथ अमरनाथ यात्रा के लिए आधार शिविर के रूप में यात्री निवास को तैयार किया जा रहा है।’’कोविड-19 महामारी के मद्देनजर जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने शनिवार को कहा था कि सड़क मार्ग से 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पवित्र गुफा जाने के लिये रोजाना सिर्फ 500 यात्रियों को अनुमति दी जाएगी। इस यात्रा के जुलाई के अंत में दो सप्ताह के लिए बालटाल मार्ग से शुरू होने की संभावना है।इससे पहले दो मार्गों अनंतनाग के पहलगाम और गंदेरबल के बालटाल से यह यात्रा 23 जून से शुरू होने वाली थी लेकिन महामारी की वजह से इसमें विलंब हुआ। जम्मू में वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए आधार शिविर के रूप में इस्तेमाल होने वाले यात्री निवास को मार्च में पृथक केन्द्र के रूप में बदल दिया गया था और इसके बाद इसे 500 बिस्तरों वाले कोविड देखभाल केन्द्र के रूप में परिवर्तित किया गया।